सीएमपीडीआई वेबसाइट पर आपका स्वागत है


           सीआईएल मेल           
हमे फेसबूक पर पसंद करे टिवीटर पर फॉलो करना
ऑनलाइन भर्ती
ऑनलाइन भर्ती


अस्वीकृति

समाचार एवं घटनाएँ (पुरालेख)



कोयला एवं खनन क्षेत्र में फ्लाईऐश के उपयोग/व्यवहार पर दिनांक: 29.8.2012 को एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन।

बेस लाइन डाक्यूमेंट के एक हिस्से के रूप में भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीकी मंत्रालय द्वारा प्रदत्त एक दिवसीय इंटर ऐक्टिव कार्यशाला दिनांक: 29.8.2012 को सीएमपीडीआई के कोयल हॉल में आयोजित किया गया। इस कार्यशाला का आयोजन सीएमपीडीआई के पर्यावरण विभाग द्वारा भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीकी मंत्रालय तथा इंण्डियन स्कूल ऑफ माइन्स, धनबाद (पर्यावरण, विज्ञान एवं यांत्रिकी विभाग) के साथ मिलकर संयुक्त रूप से किया गया।
कोल इंडिया द्वारा "जियोस्पेशियल वर्ल्डॅ एक्सेलेन्स एवार्ड 2012" की प्राप्ति:

कोयला खदानों में भूमि पुनरूद्धार प्रबोधन हेतु जियास्पिेशियल तकनीकी का चमत्कारिक उपयोग की पहचान के रूप में कोल इंडिया की ओर से श्री ए.के.सिंह, अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक, सीएमपीडीआई तथा श्री एन.पी.सिंह, महाप्रबंधक, रिमोट सेन्सिग, सीएमपीडीआई ने एमस्टर्डम, नीदरलैंड में 24वीं अप्रैल, 2012 को जियोस्पेशियल वर्ल्डॅ एक्सेलेंस एवार्ड प्राप्त किया।
चीन की यात्रा- विकसित/उन्नत प्रबंधन प्रशिक्षण:

कोल इंडिया के विभिन्न अनुषंगियों से चुने गए 22 सदस्यों के दल ने एक अध्ययन प्रोग्राम के अंतर्गत 5 सितम्बर से 22 सितम्बर, 2010 के दौरान चीन की यात्रा की। दल ने केसीसी(कैलियान कोल कंपनी) के कुआंग जियांग कोयला खदानों को देखा। इस भूमिगत खदान के 4 लॉगवाल फेसों से लगभग 6.0 मिलियन टन प्रतिवर्ष उत्पादन किया जा रहा है। यह एक विस्तृत खदान था। तथा भूतल यातायात की व्यवस्था मानव वाहन (मैन-राइडिंग) से की जाती थी।
सीएमपीडीआई, मुख्यालय में परीक्षण प्रयोगशाला का उद्घाटन

स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर श्री ए.के.सिंह, अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक, सीएमपीडीआई द्वारा सीमेंट तथा रेसिन कैप्सूल परीक्षण प्रयोगशाला का उद्घाटन किया गया।
सीएमपीडीआई में "सार्वजनिक क्षेत्र दिवस" (पब्लिक सेक्टर डे) मनाया गया

दिनांक: 10 अप्रैल, 2010 को सीएमपीडीआई में प्रथम बार "सार्वजनिक क्षेत्र दिवस" मनाया गया। श्री ए.के.सिंह, अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक, सीएमपीडीआई सार्वजनिक क्षेत्र दिवस मनाने क उद्देश्य के बारे में वर्णन करते हुए कहा कि इस दिवस को मनाने का उद्देश्य कर्मियों में सार्वजनिक क्षेत्र का देश की आर्थिक स्थिति में कीमती सहयोग तथा सार्वजनिक क्षेत्र के अन्य उपलब्धियों के बारे में जागरूकता पैदा करना है।